Love

“बेपरवाह बातें”

“साँस से साँस मिले, या ना मिले, रूह से रूह मिलाने की चाहत है मुझे। मन से मन मिले या ना मिले, दिल से दिल मिलाने की चाहत है मुझे।” “वो पास आयें, और मेरे Read more…

By reemaprabhatblogs, ago
Love

“इश्क”, ‘एकतरफा वाला’

“इश्क की दुनिया में महफूज सा हो गया हूँ, इस दुनिया की चकाचौंध में मशगूल सा हो गया हूँ, खुदा ना खास्ता मुलाकात हो गई तन्हाई से, फीके फीके लफ्जों से बयां किया इश्क उसने।”  Read more…

By reemaprabhatblogs, ago