Love

“तेरे वादे”

“कभी मैं तुम्हें उस चाँद की चाँदनी में ढूंढने की कोशिश करता हूँ, कभी उस डूबते सूरज की लालिमा में ढूंढने की कोशिश करता हूँ। वहाँ नहीं दिखती हो, तो अपने बगीचे के खुशबूदार फूलों Read more…

By reemaprabhatblogs, ago
Poetry

पहले की तरह।

पिछले कुछ सालों में  बहुत बदल गयी है ज़िंदगी और इस ज़िंदगी के साथ  बदल गयी है तू भी पहले तू हँसती थी मुस्कुराती थी और गाती भी थी।।। तू अब भी हँसती है लेकिन Read more…

By Sadah, ago
Life

Befuddled

I miss those old days of my life Sitting alone sometimes When life was all about sleeping in Mother’s lap And wondering… How the world looked sitting on the shoulder’s of Dad. I miss those Read more…

By Sadah, ago