women

Ephemeral

She scrubbed her lips again and again till they were raw. The mirror reflected back the 13-year-old’s pale face, red-rimmed eyes, and her swollen lips. She was feeling dirty even after her shower. She had always Read more…

By Yasha shetty, ago
women

रात के अंधेरे में महिलाओं के लिए निकालना क्यों खौफनाक है?

यूं तो दुनिया में लोगों की तहज़ीब बेहिसाब है फिर भी क्यों हर घर का अपना ही हिसाब है कहीं पे नारी बेनकाब है, तो कहीं पे हिजाब है। अपने घरों पर चाहते ये पर्दे Read more…

By Chandra, ago
रहस्यमयी कहानियां

 रहस्यमयी कहानियां:- कौन थी वो बर्फीली रात मे मिली महिला?

ह ये उन दिनों की बात है जब हम एचपीयू में पढ़ते थे। 80 का दशक था। मैं ऐवलॉज हॉस्टल में रहा करता था और कुछ दोस्त हिमकिरीट में रहा करते थे। तो हम कभी Read more…

By Gaurav Sharma, ago
art

।।तमन्ना।।

मैं तो बैठा कुछ सोच रहा था दुनिया के रंग देख रहा था डूबा अपने ख्यालों में इक अलग जहाऩ संजो रहा था। उन्हें मेरे एक तरफ अमीरी खड़ी दिख रही थी दूसरी तरफ उन्हें Read more…

By Sadah, ago
Poetry

पहले की तरह।

पिछले कुछ सालों में  बहुत बदल गयी है ज़िंदगी और इस ज़िंदगी के साथ  बदल गयी है तू भी पहले तू हँसती थी मुस्कुराती थी और गाती भी थी।।। तू अब भी हँसती है लेकिन Read more…

By Sadah, ago
Poetry

।।हिंद।।

आज उन वीरों को याद करो उन देशभक्तों की पुकार सुनो शौर्य को अपने तुम जगाओ भारत को अपने तुम सजाओ रक्शक बनकर इस आज़ादी के अपने देश के गौरव को तुम बढाओ राष्ट्रगीत गाओ Read more…

By Sadah, ago
art

॥ औरत ॥

औरतों का दर्जा ऊँचा होता है औरतों का औधा ऊँचा होता है बिन औरतों के तो हमारा घर सूना सूना सा होता है। घर एक पूजा है जिसका आशीर्वाद वे हैं। घर एक कहानी है Read more…

By Sadah, ago