अकेले ही लड़नी होती है जिंदगी की लड़ाई। लोग सिर्फ तस्सली देते हैं साथ नहीं।

तेरी पहचान भी न खो जाए कहीं इतने चेहरे ना बदल थोड़ी सी शोहरत के लिए…!

ह ये उन दिनों की बात है जब हम एचपीयू में पढ़ते थे। 80 का दशक था। मैं ऐवलॉज हॉस्टल में रहा करता था और कुछ दोस्त हिमकिरीट में रहा करते थे। तो हम कभी Read more…